अन्य

पकड़े गए 7 टन से ज्यादा ‘नकली’ आम… जानिए आखिर ये कैसे बन रहे, खा लिया तो क्या होगा ?

आम के सीजन में ये खबरें काफी आ रही हैं कि कैल्शियम कार्बाइड के जरिए जो आम पकाए जा रहे हैं. लेकिन, ये हेल्थ के लिए काफी नुकसानदायक हैं और कई बीमारियों को बुलावा देते हैं.

कैल्शियम कार्बाइड से आम पकाए जा रहे हैं.

गर्मी के इस मौसम में अगर बाजार जाएंगे तो आपको हर तरफ आम के ठेले नजर आएंगे. इन ठेलों पर रखें आम इतने सुंदर होते हैं कि हर किसी का खरीदने का मन करता है. लेकिन, क्या आपने कभी सोचा है ये सुंदर और फ्रेश दिखने वाले जो आम हैं, वो नकली आम भी हो सकते हैं. दरअसल, तमिलनाडु में खाद्य सुरक्षा विभाग ने एक गोदाम से करीब 7.5 टन नकली आम जब्त किए हैं. अब सवाल है कि आखिर ये नकली आम क्या होते हैं, कैसे बनाए जाते हैं और अगर कोई इन्हें खा ले तो क्या होगा?

किसे बोलते हैं नकली आम?

इस नकली आम का मतलब ऐसा नहीं है कि ये आम मशीनों से पकाए जाते हैं. ये आम पेड़ों से ही तोड़े जाते हैं, लेकिन कृत्रिन तरीके से पकाने के तरीके की वजह से इन्हें नकली आम कहा जा रहा है. दरअसल, आमों को पकाने के लिए कैल्शियम कार्बाइड का इस्तेमाल किया जाता है, जिसके इस्तेमाल पर बैन है. ऐसे पकाए गए आम हेल्थ के लिए काफी हानिकारक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *